उत्तराखंड में भीषण बारिश के अलर्ट के बीच जोशीमठ में टूटकर नीचे गिरा पहाड़, बद्रीनाथ हाईवे बंद, मार्ग के दोनों ओर फंसे हजारों यात्री

India International Uttar Pradesh Uttarakhand टेक-नेट तीज-त्यौहार तेरी-मेरी कहानी नारी सशक्तिकरण युवा-राजनीति

आपदा प्रबंधन विभाग अलर्ट मोड पर है. सभी जिलों में अधिकारियों को चेतावनी जारी कर दी है कि अपने-अपने जिलों में पूरी तरह से नजर बना कर रखें. कर्मचारियों को 24 घंटे खोले रखने के आदेश जारी किए गए हैं. बारिश को देखते हुए हम पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. 

उत्तराखंड में 9 जुलाई के लिए एक बार फिर से मौसम विभाग ने भारी बारिश की अलर्ट जारी किया है, जिसके बाद कुमाऊं, उधम सिंह नगर और नैनीताल जिले में स्कूलों की छुट्टियां घोषित कर दी गई है. वहीं प्रशासन भी अलर्ट पर आ गया है. प्रदेश में पिछले छह दिनों से बारिश हो रही है, जिसकी वजह से कई जगहों पर जलजमाव की स्थिति भी बन गई है. ऐसे में प्रशासन की ओर से लगातार हालात सामान्य किए जाने की कोशिशें की जा रही है.   

उत्तराखंड आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव विनोद कुमार सुमन ने कहा, अब तक बाढ़ ग्रस्त इलाकों से 950 लोगों का रेस्क्यू कर सुरक्षित जगहों पर भेजा गया है. बंद पड़ी सड़कों को खोलने के लिए 450 जेसीबी मशीनें लगाई गई हैं. सैकड़ों बचावकर्मी तैनात किए गए हैं जो लगातार स्थिति पर नजर रख रहे हैं. फिलहाल स्थिति सामान्य है. कुछ जगहों पर गाड़ी बहने या फिर हल्की-फुल्की घटनाओं की खबर सामने आई है लेकिन हालात कंट्रोल में हैं. 

अलर्ट मोड पर प्रशासन
आपदा प्रबंधन विभाग अलर्ट मोड पर है. सभी जिलों में अधिकारियों को चेतावनी जारी कर दी है कि अपने-अपने जिलों में पूरी तरह से नजर बना कर रखें. कर्मचारियों को 24 घंटे खोले रखने के आदेश जारी किए गए हैं. बारिश को देखते हुए हम पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. 

बता दें कि उत्तराखंड में पिछले 6 दिनों से लगातार बारिश हो रही है. जिससे विभिन्न इलाकों में जल भराव की घटनाएं सामने आए हैं तो वही लगातार सड़कें बंद हो रही हैं इनमें के राज्य मार्ग तथा राष्ट्रीय मार्ग दोनों शामिल हैं. प्रशासन लगातार मार्ग खोलने का काम कर रहा है. प्रदेश में चल रही चार धाम यात्रा को कुछ समय के लिए होल्ड किया गया था लेकिन, अब उसे सुचारु कर दिया गया है फिर भी स्थिति को देखते हुए यात्रियों से सुरक्षित यात्रा करने के लिए निवेदन किया गया है ताकि कोई अप्रिय घटना न हो. 

उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में दो जिलों में जिलाधिकारी ने आंगनबाड़ी केंद्रों से लेकर 12वीं तक सभी स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी है. जो लोग फंसे हुए हैं उन्हें निकालने का काम किया जा रहा है. 

जोशीमठ में बदरीनाथ नेशनल हाईवे पर मंगलवार को पहाड़ी से भयानक लैंडस्लाइड हो गया. मलबे के साथ बड़े-बड़े बोल्डर पहाड़ी से गिरने लगे. देखते ही देखते बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया. इस दौरान वहां से आवाजाही कर रहे तीर्थयात्री और मॉर्निंग वॉक को गए स्थानीय लोग बाल-बाल बच गए.

A terrible landslide occurred on Tuesday on the Badrinath National Highway in Joshimath. Huge boulders along with debris started falling from the hill. The Badrinath National Highway was closed in no time. During this time, the pilgrims passing through there and the local people who had gone for morning walk had a narrow escape.

में बदरीनाथ नेशनल हाईवे पर मंगलवार को पहाड़ी से भयानक लैंडस्लाइड हो गया. मलबे के साथ बड़े-बड़े बोल्डर पहाड़ी से गिरने लगे. देखते ही देखते बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया. इस दौरान वहां से आवाजाही कर रहे तीर्थयात्री और मॉर्निंग वॉक को गए स्थानीय लोग बाल-बाल बच गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *