Chief Minister Grid Scheme: लाइनपार की सड़कें पहले से ही चौड़ी, अब चौड़ीकरण की आड़ में बेघर न किया जाए 500 परिवारों को

Uttar Pradesh खाना-खजाना खेल-खिलाड़ी टेक-नेट तीज-त्यौहार तेरी-मेरी कहानी नारी सशक्तिकरण युवा-राजनीति लाइफस्टाइल वीडियो शिक्षा-जॉब

लव इंडिया, मुरादाबाद। मुख्यमंत्री ग्रिड योजना (Chief Minister Grid Scheme) के तहत किये जा रहे सड़क चौड़ीकरण(road widening) से बेघर हो रहे करीब 500 परिवारों को उजड़ने से बचाने के संबंध में मंडलायुक्त से प्रतिनिधिमंडल मिला और ज्ञापन दिया। कहा कि लाइनपार क्षेत्र की सड़क पहले से ही काफी चौड़ी है अब चौड़ीकरण की आड़ में 500 परिवारों को बेघर ना किया जाए। मंडलायुक्त आंजनेय कुमार सिंह(Divisional Commissioner Anjaneya Kumar Singh) से मिले प्रतिनिधि मंडल में मुरादाबाद महानगर (Moradabad metropolis)के मझौला थाना अंतर्गत लाइनपार(Linepar under Majhola police station) क्षेत्र के लोग थे।

प्रतिनिधि मंडल ने मंडलायुक्त आंजनेय कुमार सिंह को बताया कि हमारे मोहल्ले में मुख्यमंत्री ग्रिड योजना के अंतर्गत चौधरी चरण सिंह चौक से कैल्टन स्कूल की पुलिया, पम्प (Charan Singh Chowk to Calton School Bridge ) तक सड़क चौड़ीकरण हेतु मकानों- दुकानों को तोड़ने के लिय चिन्हीकरण का कार्य किया जा रहा है। मोहल्ला लाइनपार मझोला सदियों पुराना बसा हुआ है और रोड के बीच में डिवाइडर(Divider) बना है। साथ ही, सड़क के दोनों तरफ किनारों पर नाला बना हुआ है। उपरोक्त सड़क पूर्व से ही काफी चौड़ी है तथा आवागमन में कोई बाधा आज तक नहीं आई है। नगर निगम द्वारा डिवाइडर के दोनों तरफ करीब 20 मीटर रोड चिन्हित की गई है जबकि मौके पर डिवाइडर से दोनों तरफ 12+12=24 मीटर से भी चौड़ी रोड मौजूद है।

प्रतिनिधि मंडल ने मंडलायुक्त आंजनेय कुमार सिंह से कहा कि हम मोहल्लेवासी नगर निगम के चिन्हीकरण से बहुत आहत हैं, दुखी हैं, परेशान हैं तथा पूरे क्षेत्र के लोगों में रोष व्याप्त है। यदि हमारी समस्या पर सहानुभूतिपूर्वक विचार नहीं किया गया तो करीब 500 से अधिक परिवार उजड़कर बेघर एवं बेरोजगार हो जायेंगे, क्योंकि हमारे पास और कोई अन्य साधन नहीं है।

प्रतिनिधि मंडल ने मंडलायुक्त आंजनेय कुमार सिंह से हाथ जोड़कर प्रार्थना की कि कपूर कंपनी पुल से प्रकाश नगर चौराहा होते हुए चौधरी चरण सिंह चौक तक की रोड काफी चौड़ी 24 मीटर से भी अधिक चौड़ी रोड है तथा दोनों साइड में नाला बना है नाले के आगे जाकर आबादी में किसी प्रकार की कोई तोड़फोड़ नहीं की जाए।

इस दौरान, रवि शंकर गौतम, राजपाल सिंह, जगदीश सरन, विशेष शर्मा, राज कुमार यादव, रवि कुमार, सुमित, सोनू कुमार, प्रतीक चौहान, अतर सिंह, सत्यप्रकाश विश्नोई, हिमांशु, राजेंद्र सैनी, देवंद्र सैनी और संजीव कुमार सैनी आदि थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *