Shirdi Sai School: हिंदी व मैथ्स में शत प्रतिशत समेत 98.8 % अंकों के बाद अब आध्या का लक्ष्य डॉक्टर बनना

India Uttar Pradesh खाना-खजाना खेल-खिलाड़ी टेक-नेट तीज-त्यौहार तेरी-मेरी कहानी नारी सशक्तिकरण युवा-राजनीति लाइफस्टाइल शिक्षा-जॉब

लव इंडिया, मुरादाबाद। श्रेष्ठ सम्मान की, मंजिल ऐसे ही नहीं मिलती… अपनी उपलब्धियों पर यह कहना हैं कक्षा 10 की सीबीएससी परीक्षा में 98.8 प्रतिशत और हिंदी व मैथ्स में शत प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाली आध्या का। शिरडी साई स्कूल की छात्रा और अपनी उपलब्धियों पर गौरवान्वित होनी वाली आध्या का मानना हैं, कि शिखर तक पंहुचने के लिए, खुद के परिश्रम और साधना के साथ ही, अपनों के आशीर्वाद की भी अहम भूमिका होती हैं।

आध्या ने कहा कि, सफलता के इस मुकाम तक पहुंचने के लिए मैने विभिन्न सामाजिक दायित्वों से ही मुँह नहीं मोड़ा, बल्कि टीवी और मोबाइल जैसेआधुनिक मनोरंजन के संसाधनों से भी, हमेशा अपनी दूरी बनाए रखी। अपनी माता विदुषी टंडन और पिता डॉ. मोहित टंडन जो प्रतिष्ठित डॉक्टर हैं। उनका कुशल निर्देशन और आशीर्वाद भी मेरी इस सफलता का मुख्य आधार रहा।

अपनी इस सफलता का श्रेय, शिक्षको को भी, देते हुए आध्या ने कहा शिक्षा के किसी भी मोर्चे पर जब भी में, तनिक भी विचलित हुई, तो इन्होने मेंरी समस्या और उत्सुकता का ही समाधान नहीं किया। बल्कि मेरा उत्साह वर्धन भी किया। समय समय पर, जब भी मैने कभी खुद को, तनाव के धुन्ध में घिरा पाया तभी मेरे डाक्टर पिता ने, सदेव मेरे कंधों पर हाथ रखकर और अधिक तेज दौड़ने की प्रेरणा दी गणित और हिंदी मैं शत- प्रतिशत अंक लेने वाली आध्या का मानना है, की मेरा संकल्प परिश्रम और आशीर्वाद मुझे सदेव आगे भी ऐसे ही अंक लाने के लिए प्रेरित करता रहेगा। साथ ही आध्या ने अपनी माता विदुषी टंडन के त्याग के प्रति भी बताते नहीं थकती।

और जानिए आध्या के बारे में

Adhya Tandon class 10th
Shirdi Sai Public school
98.8%

Father – Dr. Mohit Tandon (doctor)
Mother – Mrs. Vidushi Tandon

भविष्य में डॉक्टर बनना चाहती हैं
इन्होंने हिंदी और मैथ्स में 100% मार्क्स हासिल किया ।
पहले भी यह अंतर विद्यालय वाद विवाद प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त कर सुमन हिंदी साहित्य देवी सम्मान प्राप्त करा हैं। वर्ष 2022 में मंडल स्तरीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी में मंडल स्तर पर अपना साइंस का मॉडल प्रस्तुत कर प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया ।


आध्या ने भुवनेश्वर में जाकर मॉडल यूनाइटेड नेशंस द्वारा अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता gender equality and empowerment of women पर अपनी स्पीच देकर प्रथम स्थान प्राप्त किया पढ़ाई के साथ-साथ वह नृत्य में भी उनकी रुचि है । आध्या ने कत्थक में अपना सीनियर डिप्लोमा प्राप्त करा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *