NEET में अनियमितताओं की शीर्ष अदालत की निगरानी में सीबीआई जांच कराई जाए

India Uttar Pradesh Uttarakhand अपराध-अपराधी खाना-खजाना खेल-खिलाड़ी टेक-नेट तेरी-मेरी कहानी नारी सशक्तिकरण युवा-राजनीति शिक्षा-जॉब

लव इंडिया, मुरादाबाद। आज राष्ट्रीय अतिपिछड़ा महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष डा. रामेश्वर दयाल तुरैहा ने मुख्य न्यायधीश, सुप्रीम कोर्ट, राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को पत्र प्रेषित कर राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा यूजी 2024 को रद्द करने और 5 मई को आयोजित परीक्षा में कथित अनियमितताओं की शीर्ष अदालत की निगरानी में सीबीआई या अन्य किसी निष्पक्ष स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराने की मांग की।

ज्ञात हो कि प्रश्नपत्र लीक होने से 24 लाख छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ हुआ है तथा इस संबंध में प्राथमिकी भी दर्ज की गई है और कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है ऐसे में परीक्षा की शुचिता पर सवाल खड़े होते हैं !अंत: आपसे अनुरोध है कि राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) और अन्य को परीक्षा नए सिरे से कराने के निर्देश देने का कष्ट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *