पुलिस महकमे का हैड कांस्टेबल निकला शालिनी का कातिल, तीन माह बाद पकडे गए दो हत्यारोपी

India Uttar Pradesh अपराध-अपराधी टेक-नेट तेरी-मेरी कहानी युवा-राजनीति

लव इंडिया, कानपुर। 50 साल के मनोज को हुआ था आधी उम्र की शालिनी से इश्क.. शादी का दबाव बनाने पर ली जान, गला घोंटकर जान ली.. लाश कुए में फेंक दी थी? परिवार ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया….।

UP : कानपुर में बर्रा निवासी नर्स 26 साल की युवती शालिनी तिवारी की हत्या का तीन महीने बाद खुलासा हो गया है। हत्या उसके हेड कांस्टेबल प्रेमी मनोज कुमार ने अपने साथी राहुल के साथ मिलकर की थी। नर्स को बहाने से एटा ले जाकर गला घोंटकर मार डाला और शव वहीं पर एक सूखे कुएं में फेंक दिया था। इतना ही नहीं गुमराह करने के लिए अपने पुलिसिया दिमाग का इस्तेमाल करते हुए नर्स का मोबाइल और सिम अयोध्या में फिंकवा दिए। पुलिस ने सर्विलांस की मदद से दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। डीसीपी रविंद्र कुमार ने बताया कि गुजैनी के ओ ब्लॉक तात्याटोपे नगर निवासी 50 वर्षीय मनोज कुमार पुलिस लाइन में हेड कांस्टेबल है। वह शादीशुदा है। तीन साल पहले उसकी बर्रा थाने में तैनाती थी। उसी दौरान उसकी नजदीकियां बर्रा निवासी निजी अस्पताल में नर्स शालिनी तिवारी से बढ़ गईं थीं। कुछ दिनों बाद शालिनी ने शादी का दबाव बनाना शुरू कर दिया।

इस पर मनोज ने सचेंडी के भीमसेन रामसिंह का पुरवा निवासी साथी राहुल कुमार के साथ मिलकर शालिनी को रास्ते से हटाने की साजिश रची। मनोज फरवरी में शालिनी को पैतृक गांव एटा के मोहल्ला गांधीनगर जैथरा ले गया। वहीं पर गमछे से शालिनी की गला कसकर हत्या कर दी और शव कुएं में फेंक दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *